कोरोना वायरस (corona virus ) से व्यक्ति की मृत्यु होने पर शरीर को जलाया जायेगा , चाहे वो किसी भी धर्म से हो

कोरोंना वायरस (coronavirus) ने पुरे भारत के साथ पूरी दुनिया में तांडव मचाया हुआ है। और बहुत तेजी के साथ हर जगह फ़ैल रहा है। कुल 32 लोग कोरोना की वजह से अपनी जान गवा चुके है है। भारत में कोरोना से संक्र्मित लोगो की संख्या 1400 का आंकड़ा पार कर दिया है। भारत में सबसे ज्यादा कोरोना वायरस से प्रभावित राज्य महाराष्ट्र (Maharashtra) है।

1
320
व्यक्ति की कोरोना वायरस (corona virus ) से मृत्यु होने पर शरीर को जलाया जायेगा , चाहे वो किसी भी धर्म से हो
व्यक्ति की कोरोना वायरस (corona virus ) से मृत्यु होने पर शरीर को जलाया जायेगा , चाहे वो किसी भी धर्म से हो

कोरोंना वायरस (coronavirus) ने पुरे भारत के साथ पूरी दुनिया में तांडव मचाया हुआ है। और बहुत तेजी के साथ हर जगह फ़ैल रहा है। कुल 32 लोग कोरोना की वजह से अपनी जान गवा चुके है है। भारत में कोरोना से संक्र्मित लोगो की संख्या 1400 का आंकड़ा पार कर दिया है। भारत में सबसे ज्यादा कोरोना वायरस से प्रभावित राज्य महाराष्ट्र (Maharashtra) है।

महाराष्ट्र (Maharashtra) में भारत में लॉक डाउन को लोगू करने से पहले ही यहाँ के 4 शहरों में लॉक डाउन का एलान कर दिया गया था। सरकार भी इससे लड़ने के लिए कई कड़े फैसले ले रहे है। जिसमे एक फैसला ये लिया है कि कोरोना से मृत्यु होने पर उससे दफ़नाने की जगह उसका दाह संकार किया जायेगा। मृतक किसी भी धर्म से तालुक रखता हो तो भी उसे उसके शरीर को जलाकर ही दाह संस्कार किया जायेगा।

दिल्ली (Delhi) के निज़ामुद्दीन मरकज़ (Nizamuddin Markaz) में ठहरे 24 लोगों में कोरोनावायरस पॉजिटिव पाया गया

सरकार ने ये फैसला कोरोना से बढ़ते मामलों को देखते हुए किया है। कोरोना से संक्रमित लोगो की संख्या 243 पहुँच गयी है। ये संख्यां अन्य राज्यों की तुलना में बहुत ज्यादा है। इससे आप अंदाज़ा लगा सकते है कि महाराष्ट्र की हालत कितनी ख़राब है। यंहां पर परिस्थियाँ ज्यादा बिगड़ी हुई है।


इसके लिए आदेश दिए गए है अब पास के श्मशान में मृत शरीर को जलाया जायेगा । वहां उसका अंतिम संस्कार करें। मृत शरीर को छूने वाली प्रक्रियाओं को ना करें साथ ही अंतिम संस्कार में 5 लोगो से अधिक लोग भी इकट्ठा ना होने के आदेश दिए गए।

श्मशान के कमर्चारी को भी आवश्यक सावधानी बरतने के लिए कहा है जैसे ग्लब्स और मास्क का उपयोग करें और पूरी सावधानी से अंतिम संस्कार करें। इसके पीछे कारण ये है कि जितने भी कब्रिस्तान है वे सभी घनी आबादी वाले इलाकों में है , और मृतक का शरीर प्लास्टिक में लिपटा होने के कारण शरीर तो डिकम्पोज होने में समय लगता है , जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here